वैसे तो क्रिकेट में हर रोज नए कारनामे बनते हैं और फिर टूट भी जाते हैं। लेकिन कुछ कारनामे ऐसे होते हैं जिन्हें याद करने से ही रोमांच आ जाता है। ऊपर से वो कारनामा किसी भारतीय ने किया हो तो क्या कहने? सालों पहले ऐसा ही कारनामा आज के दिन यानि 7 फरवरी को अनिल कुंबले ने किया था। कुछ साल पहले किए इनके कारनामे को आज तक कोई दोहरा नहीं पाया है। आज यानि 17 अक्टूबर 1970 को अनिल कुंबले का जन्म हुआ था।उनकी जन्मदिन पर आज हम आपको उसी कारनामे की पूरी कहानी बता रहे हैं।

अनिल कुंबले, फोटो सोर्स – गूगल

साल था 1999। भारत और पाकिस्तान के बीच टेस्ट सीरीज मैच खेला जा रहा था। भारत में टेस्ट सीरीज थी। पहला टेस्ट मैच हुआ चेन्नई मे। सचिन तेंदुलकर ने इस मैच में सेंचुरी मारी। लेकिन जैसे ही सचिन आउट हुए। पता ही नहीं चला कब पूरी टीम निपट गई और पहला मैच भारत हार गई।

अब आते हैं असल मैच की ओर। जिसमें भारत की साख दांव पर थी। पहला मैच तो बुरी तरह हार चुके थे ये भी हारो तो थू-थू। इस मैच के लिए मैदान था दिल्ली का फिरोज शाह कोटला। जहां पता नहीं चलता कि गेंद कब नीचे से निकल जायेगी और कब उठकर मुंह में लग पड़ेगी। मैच की कहानी शॉर्ट में बता देते हैं कि सचिन तेंदुलकर सेंचुरी लगाने से चूक जाते हैं। भारत चौथे दिन के शुरू में ही आउट हो जाती है।

कुंबले का कारनामा

पाकिस्तान बल्लेबाजी के लिए आता है। गेंदबाजी अटैक के लिए कुंबले को ही लगा दिया जाता है। पाकिस्तान अपना पहला टेस्ट जीत ही चुका था। अगर ये मैच ड्राॅ भी हो जाता है तो उसे क्या दिक्कत? असली परेशानी तो भारत के लिए थी। अपने घर में जो हार रही थी। वहीं पाकिस्तान ने 101 रन बना लिये थे और कोई विकेट भी नहीं गिरा था। पर विकेट तो गिरने ही थे और ऐसे गिरने थे कि न पाकिस्तान को पता चलने वाला था और न कुंबले को।

फोटो सोर्स – गूगल

आखिर फिर विकेट गिरने की शुरूआत हो गई। पहले विकेट के रूप में गये ताबड़तोड़ बल्लेबाज शाहिद अफरीदी। जिन्हें कुंबले ने ऑफ स्टंप के बाहर कैच कराके आउट करवाया। उनके बाद अगली ही गेंद पर एज़ाज अहमद एलबीडब्लयू होकर चलते बने। हैट्रिक बाॅल थी। इंज़माम उल हक आये और गेंद को पचा गये। लेकिन जल्दी ही इनसाइड एज लगाकर कैच दे बैठे।

उसके बाद युसुफ योहाना यानि कि मोहम्मद युसुफ स्लिप में और सईद अनवर शॉर्ट लेग में कैच देकर अनिल कुंबले के विकेटों की संख्या बढ़ाते जा रहे थे। इसके बाद टी ब्रेक तक कोई विकेट नहीं गिरा। वसीम अकरम और सलीम मलिक लंबे खेल गये। लेकिन टी ब्रेक के बाद एक बार फिर से ‘जंबो’ के हाथ में गेंद थी और उनका शिकार बने सलीम मलिक। सलीम मलिक बोल्ड हुए। उसके बाद मुश्ताक अहमद को गली में लपकवा दिया। अगली ही गेंद पर सकलैन को एलबीडब्लू कर दिया। अब सिर्फ 1 विकेट रह गया था। अब तक सारे के सारे विकेट अनिल कुंबले ने ही लिये थे। बस कारनामे से 1 विकेट दूर थे।

फोटो सोर्स- गूगल

कुंबले एक बार फिर से बाॅल के साथ थे। उनकी हैट्रिक बाॅल थी। सामने थे वसीम अकरम। वह हैट्रिक बाॅल डकार गये। एक ही मैच में दो बार चूक गये। लेकिन तीसरी गेंद पर गलती हो गई। टाॅप एज लग गया और गेंद गई शाॅर्ट लेग पर। खिलाड़ी थे लक्ष्मण। उनसे कहां गलती होती है, लपक लिए और अनिल कुंबले ने कुछ इस तरह पूरे किये अपने 10 विकेट।

देखिये कुंबले के वो दस विकेट-