हाल-फ़िलहाल में पुलिस की काफी वीडियोज़ वायरल हुईं, कुछ फ़ेक निकलीं तो कुछ असली। वैसे नागरिकता संशोधन एक्ट के विरोध प्रदर्शन की वजह से सोशल मीडिया पर लोगों को कुछ न कुछ वायरल करने को मिल ही रहा है। चलिए, कुछ बेरोज़गारी तो कम हुई। अब सब लोग इंटरनेट पर किसी न किसी काम में लगे हुए हैं। ये बात उनके लिए है जो इन सब चीज़ों से सोशल मीडिया पर अपना प्रोपेगेंडा चला रहे हैं।

अब पुलिस की उस वीडियो की बात करते हैं जो सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रही है। हैदराबाद में भी CAA के विरोध में काफी उग्र प्रदर्शन हुआ था जिसके बाद पुलिस ने किसी भी तरह के प्रोटेस्ट की अनुमति देने से मना कर दिया था। अब, ट्विटर पर एक वीडियो घूम रही है जिसके साथ दावा किया गया कि RSS के सदस्य हैदराबाद में लाठी लेकर घूम रहे हैं और पुलिस बल से होने का दावा कर रहे हैं’।

कई ट्विटर यूजर्स ने इस वीडियो को पोस्ट किया और कैप्शन लिखा, ‘न यूनिफ़ॉर्म, न बैज, पुलिस बनने का दावा, हाथ में लाठियाँ लिए आरएसएस? कौन है ये लोग?’ नीचे आप इस वीडियो को देख सकते हैं जिसे कई लोगों ने रिट्वीट किया।

वीडियो में आप सुन सकते हैं कि हाथ में लाठी लिए कुछ लोग सभी को दूर जाने के लिए बोल रहे हैं। फिर एक व्यक्ति इनसे पूछता है कि कौन हैं, जिस पर इन्होंने जवाब दिया कि वे पुलिसकर्मी हैं और वर्दी नहीं पहनते हैं। लोगों ने विश्वास नहीं किया और ट्विटर पर इस वीडियो को लेकर कई सवाल भी खड़े हो गए। कुछ ने इन्हें पुलिस मानने से इनकार कर दिया तो कुछ ने इन्हें RSS का बताया।

जानिए क्या है सच्चाई?

जब लोग इस वीडियो को सोशल मीडिया पर RSS के नाम से फैलाने लगे तो खुद हैदराबाद पुलिस ने एक ट्वीट किया। जिसमें लिखा गया कि यह हमारी ही टीम है। इसके बाद साफ़ हो जाता है कि हैदराबाद के टोली चौकी जगह की इस वीडियो में पुलिस वाले ही हैं।

सोर्स-ट्विटर

सोर्स-ट्विटर

रिपोर्ट्स के मुताबिक, 12 जनवरी की आधी रात को हैदराबाद के टोली चौकी में लोग सीएए और एनआरसी के विरोध प्रदर्शन में एकत्रित हुए थे। पुलिस को खबर मिली थी कि ट्विटर पर कुछ लोगों ने फिर से प्रोटेस्ट करने की बात की है और लोगों को इकट्ठा करने में लगे हैं। हैदराबाद के ‘द सियासत डेली’ के आर्टिकल में लिखा है कि हैदराबाद के महत्वपूर्ण जंक्शनों पर CAA और NRC के खिलाफ फ्लैश विरोध की सूचना के बाद पुलिसकर्मियों को शहर के विभिन्न हिस्सों में तैनात किया गया था।

सोर्स-'द सियासत डेली'

सोर्स-‘द सियासत डेली’

जांच के बाद हम कह सकते हैं कि इस वीडियो में दिख रहे लोग हैदराबाद पुलिस के हैं। तो जो लोग यह दावा कर रहे हैं कि ये लोग RSS के हैं  उनका दावा गलत है।

असली-नकली के लिए आप हमारे इस सेक्शन को फॉलो कर सकते हैं। आपको भी अगर किसी ख़बर या फोटो पर संदेह होता है कि ये असली है या नकली इसके लिए हमें आप hello@kachchachittha.com पर मेल करके सूचित कर सकते हैं। हम पूरी कोशिश करेंगे कि आप तक उस खबर की सही जानकारी जल्द से जल्द पहुंचा सकें।