न्याय करने वालों के साथ ही अगर अन्याय हो जाए तो क्या कहिएगा। इस बार कुछ ऐसा ही हुआ है। जनता के साथ न्याय करने का दावा करती रही पुलिस के साथ ही कुछ अन्याय हो गया है। ये अन्याय देश के उस राज्य की पुलिस इंस्पेक्टर के साथ हुआ है। जहां की पुलिस के चर्चे देश के हर कोने में हैं। चोर, गुंडे, बदमाश तो इनके नाम से थर-थर काँपते है। ऐसा इस राज्य की पुलिस और मुख्यमंत्री का दावा है। हम बात कर रहे है एन्काउंटर स्पेशलिस्ट यूपी पुलिस की। लेकिन, फिलहाल ये शांत है और चुनाव के नतीजों का इंतज़ार कर रही है। ऐसा हम नहीं बल्कि खुद मड़ियांव इलाके के इंस्पेक्टर ने कहा है।

Image may contain: 1 person, standing and hat
इंस्पेक्टर पूनम अवस्थी/ फोटो सोर्स- फेसबुक

दरअसल यूपी पुलिस में एक महिला इंस्पेक्टर है। नाम इनका पूनम अवस्थी है। मड़ियांव इलाके में इनका एक घर है, जो फिलहाल खाली पड़ा है। लेकिन जिस मौसम में नेता वोट चुरा रहे है, वहीं चोरों ने 3 मई को इनके घर में चोरी कर डाली। जब इस बात का पता इंस्पेक्टर पूनम को चला तो उन्होंने मड़ियांव थाने को सूचित कर कार्यवाही करने को कहा। पर थाने से जो जवाब आया उसको सुनकर लगा कि चुनाव के नतीजे आने तक देश में सिर्फ एक ही काम होगा वो है ‘नतीजों का इंतज़ार’ इसके अलावा देश में और कोई काम नहीं होगा। इस मामले में डिटेल हम आपको आगे बताएँगे पर उससे पहले इंस्पेक्टर पूनम अवस्थी के घर में हुई ‘दूसरी चोरी’ और उस पर इंस्पेक्टर साहिबा द्वारा लिए गए एक्शन के बारे में जान लीजिये

दूसरी चोरी

ठीक 16 दिन बाद 19 तारीख आ गई जब देश मे आखिरी चरण का चुनाव हो रहा था। लेकिन चोर ने अपने रोज़गार के तहत, फिर से इंस्पेक्टर पूनम के घर में चोरी कर ली। एक बार शिकायत करने पर कार्यवाही न होने पर पूनम को कुछ समझ नहीं आया अब क्या किया जाए? क्योंकि चुनाव के नतीजे तो 23 को आएंगे। पर तब तक चोर ने कहीं हैट्रिक लगा दी तो। इसलिए उसने सोशल मीडिया का सहारा लिया। क्योंकि भैया आज के वक़्त में तो ‘जिसका कोई नहीं, उसका सोशल मीडिया ही सहारा है।’ इसलिए उन्होंने अपने फेसबुक पर एक पोस्ट किया। जिसमें उन्होंने लिखा कि ‘जब पहली बार ही उन्होंने पुलिस को सूचना दी तो उनकी सुनी नहीं गई। इंस्पेक्टर ने कहा अभी चुनाव है बाद में आता हूं और कोई एक्शन लिया नहीं गया। चोरों के हौसले बुलंद थे। दोबारा चोरी हुई’

तो जान लिया आपने क्या कहा था मड़ियांव इलाके के इंस्पेक्टर ने ‘अभी चुनाव है बाद में आता हूं।’

इंस्पेक्टर पूनम का फेसबुक पोस्ट(पत्रकार द्वारा ट्वीट किया गया)

इस पोस्ट को ट्वीट करते हुए इस पत्रकार ने यूपी पुलिस, यूपी के डीजीपी और लखनऊ पुलिस तीनों को आड़े हाथ लिया है। पत्रकार ने तीनों को टैग करते हुए लिखा कि ‘महिला इंस्पेक्टर पूनम अवस्थी के घर चोरी 1 महीने में दो बार हो चुकी है। चोरी मड़ियाव इलाके में हुई वारदात। पहली चोरी की शिकायत पर इस्पेक्टर बोले, चुनाव है बाद में देखो आता हूं और कल फिर हो गई चोरी…फेसबुक पर इंस्पेक्टर ने सुनाई व्यथा’

डिजिटल इंडिया के वक़्त में भले ही कोई नेता आपके रोज़गार, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसे मुद्दों पर जवाब दे या न दे। लेकिन यूपी पुलिस ट्वीटर पर जवाब देने में सक्षम हो गई है। पहले यूपी पुलिस ने लखनऊ पुलिस को टैग करके ऐक्शन लेने को कहा। फिर लखनऊ पुलिस ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। अब भला ऊपर से ऑर्डर आए तो प्रतिक्रिया कैसे नहीं देंगे।

यूपी पुलिस और लखनऊ पुलिस के ट्वीट का स्क्रीनशॉट

खैर ये तो रही लखनऊ की इंस्पेक्टर पूनम की कहानी। अच्छा एक बात और जान लीजिए कि इनके पतिदेव भी शायद पुलिस में है। ये बात हम पूनम की फेसबुक प्रोफ़ाइल पर शेयर की गई फोटो के आधार पर बता रहे हैं। अब ज़रा ये सोचिये कि जब इतनी धुआंधार पुलिस के महकमे में खुद एक इंस्पेक्टर के घर चोरी हो जाए और जिनके पति देव भी खुद पुलिस मे ही हों। यूपी के नागरिकों को सुरक्षा देने का दावा करने वाली यूपी पुलिस। वो यूपी पुलिस खुद की महिला इंस्पेक्टर को ही न्याय नहीं दे पा रही। तो भला इनके सामने ‘जनता किस खेत की मूली है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here