जमैका टेस्ट के पूरा होने में अभी एक दिन बाकि ही था कि भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज को 210 रन पर ही ऑल आउट कर दिया। इस तरह भारत यह मैच 257 रन से जीत लिया। इस जीत के साथ ही भारत इस वक्त टेस्ट वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिस्ट में टॉप पर पहुंच गया है। भारत वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला गया पहला मैच 318 रन से जीता था। ऐसे में दो टेस्ट जीतने के बाद भारत के पास 120 प्वाइंट्स हो गए हैं और वो टेस्ट चैंपियनशिप के लिस्ट में टॉप पर है।

जमैका में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में भारत के पास पहली पारी के अधार पर 299 रन का बढ़त था। लेकिन, इसके बावजूद विराट कोहली ने बैटिंग करने का फैसला लिया जबकि अगर विराट कोहली चाहते तो वेस्टइंडीज से बैटिंग करवा सकते थे। भारत दूसरी पारी में 4 विकेट के नुकसान पर 168 रन बनाए और पारी घोषित कर दी। इस तरह भारत के पास कुल 467 रनों की बढ़त थी। वेस्टइंडीज 468 रन का पीछा करने तो उतरा लेकिन, कभी उसके आस-पास नहीं दिखा। पूरी टीम 210 रन पर ऑल आउट हो गई।

वेस्टइंडीज की दूसरी पारी में एक बार फिर टेस्ट में शुरु हुए नए नियम का इस्तेमाल किया गया। जब बुमराह की एक गेंद ब्रावो के हेमलेट पर लगी और उन्हें अगली ही गेंद पर चक्कर आने लगा। जिसके बाद उन्हें मैदान से बाहर होना पड़ा। उनकी जगह वेस्टइंडीज ने ब्लैकवुड को मैदान पर उतारा। ब्लैकवुड इसके बाद मैदान पर उतरे जो गेंद लगने पर चक्कर आने संबंधित नियम के तहत स्थानापन्न खिलाड़ी के रूप में खेलने वाले दूसरे क्रिकेटर बने।

भारतीय टीम, फोटो सोर्स:गूगल
भारतीय टीम, फोटो सोर्स:गूगल

जमैका टेस्ट विराट कोहली के लिए भी काफी खास रहा। विराट कोहली इस जीत के साथ ही भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान बन गए हैं। विराट कोहली ने महेन्द्र सिंह धोनी के 27 मैचों में जीत के रिकॉर्ड को तोड़कर यह मुकाम हासिल किया है। विराट कोहली ने इससे पहले वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए पहले मैच में सौरभ गांगुली का रिकॉर्ड तोड़ा था। विराट की कप्तानी में यह उनकी 28वीं जीत है। वही विदेशी धरती पर कोहली की यह 13वीं जीत है। कोहली ने सौरभ गांगुली के 11 जीत के रिकॉर्ड को पहले टेस्ट मैच जीतने के साथ ही तोड़ा था।

भारतीय क्रिकेट टीम, फोटो सोर्स: गूगल
भारतीय क्रिकेट टीम, फोटो सोर्स: गूगल

विराट कोहली ने 48 टेस्ट मैचों में कप्तानी की है। इन 48 मैचों में 28 मैचों में जीत, 10 में हार और 10 मैच ड्रा रहे हैं। कोहली के बाद महेन्द्र सिंह धोनी का नंबर है। धोनी का कुल 60 टेस्ट मैचों में 27 जीत और सौगभ गांगुली 49 टेस्ट मैच 21 जीत दर्ज करने में सफल रहे हैं। इसके अलावा वनडे की बात करें तो धोनी सबसे सफल भारतीय कप्तान हैं। उन्होंने 200 में से 110 मैच जीते हैं। मोहम्मद अजहरुद्दीन 90 और सौरभ गांगुली ने 76 मुकाबले जीते हैं। वहीं विराट कोहली ने 80 में से 58 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मुकाबले जीते हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here