पाकिस्तानी लड़ाकू विमान एफ 16 को मार गिराने वाले और 60 घंटे तक पकिस्तानी सेना की कैद में रहे भारत के गौरव विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान, लगभग ढ़ाई महीने बाद वापस देश की रक्षा करने के लिए मैदान में आ गए हैं. विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की पोस्टिंग राजस्थान के सुरतगढ़ एयर फोर्स बेस में हुई है. बीते शनिवार को अभिनंदन ने अपना नयी तैनाती का कार्यभार संभाल लिया हैं.

 

प्रतीकात्मक तस्वीर. फोटो साभार – गूगल

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की पोस्टिंग सूरतगढ़ के एयर बेस में की गयी हैं. उन्हें मिग- 21 बायसन एयरक्राफ्ट के ऑपरेशन में तैनात किया गया है. हालांकि वायु सेना ने सुरक्षा का हवाला देते हुये अभिनंदन की पोस्टिंग की विस्तृत जानकारी देने से मना कर दिया है. जिसकी वजह से ये कहना मुश्किल है कि कमांडर अभिनंदन को दुबारा लड़ाकू विमान उड़ाने का मौका मिलेगा या नहीं.

क्योंकि भारतीय वायुसेना के प्रोटोकॉल के अनुसार जब किसी पायलट का हेलीकॉप्टर या लड़ाकू विमान किन्हीं भी कारणों से दुर्घटना का शिकार होता है, जिससे वो पायलट इजेक्ट हो कर बाहर निकल जाता है. ऐसी स्तिथी में वह पायलट दुबारा लड़ाकू विमान नहीं उड़ा सकता है. हालांकि अभिनंदन के मामले को अलग तरीके से देखा जा सकता है.

 

प्रतीकात्मक तस्वीर.फोटो सोर्स – गूगल

गौरतलब है की 27 फरवरी को भारत पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों के बीच हुई डॉग फाइट में अभिनंदन ने मिग-21 विमान से पाकिस्तान का आत्याधुनिक लड़ाकू विमान एफ- 16 मार गिराया था. लेकिन एफ- 16 का पीछा करते हुये अभिनंदन बॉर्डर क्रॉस कर पाकिस्तान में घुस गए थे. जहां उनके विमान को पाकिस्तानी वायुसेना ने निशाना बना लिया था. जिसके बाद करीब 60 घंटो तक अभिनन्दन पाकिस्तानी सेना के गिरफ्त में रहे थे. इस दौरान भारत द्वारा पाकिस्तान पर दबाब बनाया गया और साथ ही साथ जेनेवा संधि की वजह से मजबूर होकर पाकिस्तान सरकार को कमांडर अभिनंदन को रिहा करना पड़ गया था. 1 मार्च को पाकिस्तान ने बाघा बॉर्डर से अभिनंदन को भारत को सौपा था जिसके बाद उनको छुट्टी पर भेज दिया गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here